बंदर का कलेजा Cartoon Videos For Kids

4
356
बंदर का कलेजा

Cartoon Videos For Kids:- बंदर का कलेजा

किसी नदी के किनारे एक बहुत बड़ा पेड़ था । उस पर एक बंदर रहता था। उस पेड़ पर बड़े मीठे रसीले फल लगते थे। बंदर उन्हें खाता और मौज उड़ाता था । वह अकेले ही मजे में दिन गुजार रहा था।

एक दिन एक मगर कहीं से निकलकर उस पेड़ के तले आया, जिस पर बंदर रहता था। पेड़ पर से बंदर ने पूछा, तू कौन है भाई? मगर ने बंदर की ओर देख कर कहा, मैं मगर हूँ। बड़ी दूर से आया हूँ। खाने की तलाश में यूँ ही घूम रहा हूँ।

बंदर ने कहा, यहाँ खाने की कोई कमी नहीं है। इस पेड़ पर ढेरो फल लगते हैं। चखकर देखो, अच्छे लगे तो मैं और दूँगा। जितने जी चाहे खाओ । यह कहकर बंदर ने कुछ फल तोड़ कर मगर की ओर फेंक दिए।

मगर ने उन्हें चखकर कहा, वाह ये तो बड़े मजेदार हैं, बंदर ने और भी ढेर से फल गिरा दिए मगर उन्हें भी चट कर गया और बोला, कल फिर आऊँगा फल खिलाओगे क्या ? बंदर ने कहा, क्यों नहीं, तुम मेरे मेहमान हो रोज आओ और जितने जी चाहे खाओ । मगर अगले दिन आने का वादा करके चला गया | Cartoon Videos For Kids

cartoon videos for kids

दूसरे दिन मगर फिर आया। उसने भरपेट फल खाये, और बंदर के साथ गपशप करता रहा । बंदर अकेला था। एक दोस्त पाकर बहुत खुश हुआ। अब तो मगर रोज़ आने लगा। मगर और बंदर दोनों भरपेट फल खाते और बड़ी देर तक बातचीत करते रहते।

एक दिन यूँ ही वे अपने अपने घरों की बातें करने लगे, बातों बातों में बंदर ने कहा कि मगर भाई मैं दुनिया में बहुत अकेला हूँ और तुम्हारे जैसा मित्र पाकर अपने को भाग्यशाली समझता हूँ। मगर ने कहा कि मैं तो अकेला नहीं हूँ। घर में मेरी पत्नी है नदी के उस पार हमारा घर है।

बंदर ने कहा, तुमने पहले क्यों नहीं बताया। कि तुम्हारी पत्नी है मैं भाभी के लिए भी फल भेजता। मगर ने कहा कि वह बड़े शौक से अपनी पत्नी के लिए ये रसीले फल ले जायेगा जब मगर जाने लगा तो बंदर ने उसकी पत्नी के लिए बहुत से पके हुए फल तोड़ कर दिए। उस दिन मगर अपनी पत्नी के लिए बंदर की यह भेंट ले गया।

मगर की पत्नी को फल बहुत पसंद आये। उसने मगर से कहा कि वह रोज इसी तरह रसीले फल लाया करें । मगर ने कहा कि वह कोशिश करेगा । धीरे धीरे बंदर और मगर मैं गहरी दोस्ती हो गयी।

मगर रोज बंदर से मिलने जाता। जी भर फल खाता और अपनी पत्नी के लिए भी ले जाता। मगर की पत्नी को फल खाना अच्छा लगता था। पर अपने पति का देर से घर लौटना उसे पसंद नहीं था। वह इसे रोकना चाहती थी। Cartoon Videos For Kids

cartoon videos for kids

एक दिन उसने कहा, मुझे लगता है तुम झूठ बोलते हो भला मगर और बंदर में कहीं दोस्ती होती है मगर तो बंदर को मार कर खा जाते हैं। मगर ने कहा मैं सच बोल रहा हूँ वह बंदर बहुत भला है। हम दोनों एक दूसरे को बहुत चाहते हैं । बेचारा रोज तुम्हारे लिए इतने सारे बढ़िया फल भेजता है। बंदर मेरा दोस्त ना होता तो मैं ये फल कहां से लाता। मैं खुद तो पेड़ पर नहीं चढ़ सकता था।

मगर की पत्नी बड़ी चालाक थी उसने सोचा अगर वह बंदर रोज रोज इतने मीठे फल खाता है तो बंदर का कलेजा कितना मीठा होगा। यदि वह मिल जाये तो कितना मजा आये यह सोच कर उसने मगर से कहा एक दिन तुम अपने दोस्त को घर ले आओ। मैं उससे मिलना चाहती हूँ मगर ने कहा, नहीं नहीं, यह नहीं हो सकता है।

वह तो जमीन पर रहने वाला जानवर है पानी में तो डूब जायेगा। उसकी पत्नी ने कहा तुम उसको न्योता तो दो बंदर चालाक होते हैं वह यहाँ आने का कोई न कोई उपाय निकाल ही लेगा। मगर बंदर को न्यौता नहीं देना चाहता था । परंतु उसकी पत्नी रोज उससे पूछती कि, बंदर कब आयेगा ? मगर कोई ना कोई बहाना बना देता ।

जैसे-जैसे दिन गुजरने जाते बंदर के माँस के लिए मगर की पत्नी की इच्छा तीव्र होती जाती। मगर की पत्नी ने एक तरकीब सोची, एक दिन उसने बीमारी का बहाना किया और ऐसे आंसू बहाने लगे मानो उसे बहुत दर्द हो रहा हो। मगर अपनी पत्नी की बीमारी से बहुत दुखी था।

वह उसके पास बैठकर बोला, बताओ मैं तुम्हारे लिए क्या करूँ? पत्नी बोली मैं बहुत बीमार हूँ। मैंने जब वैध से पूछा तो उसने बताया कि वह कहता है कि जब तक मैं बंदर का कलेजा नहीं खाऊँगी तब तक मैं ठीक नहीं हो सकती हूँ। बंदर का कलेजा, मगर ने आश्चर्य से पूछा।

मगर की पत्नी ने कर राते हुए कहा, हाँ बंदर का कलेजा अगर तुम चाहते हो कि मैं बच जाऊँ तो अपने मित्र बंदर का कलेजा लाकर मुझे खिलाओ । मगर ने दुःखी होकर कहा, यह भला मैं कैसे कर सकता हूँ मेरा वही तो एक मित्र है मैं उसे कैसे मार सकता हूँ? पत्नी ने कहा, अच्छी बात है। अगर तुमको तुम्हारा दोस्त ज्यादा प्यारा है तो तुम उसी के पास जाकर रहो। तुम तो चाहते हो मैं मर जाऊँ।

मगर संकट में फंस गया उसकी समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करे बंदर का कलेजा लाता है तो उसका प्यारा दोस्त मारा जायेगा। नहीं लाता है तो उसकी पत्नी मर जाती है। वह रोने लगा और बोला मेरा एक ही तो मित्र है, उसकी जान में कैसे ले सकता हूँ? पत्नी ने कहा तो क्या हुआ तुम मगर हो, मगर तो जीवो को मारते ही हैं।

मगर जोर जोर से रोने लगा। उसकी बुद्धि काम नहीं कर रही थी । पर इतना वह जरूर जानता था, कि पति को पत्नी की देखभाल करनी चाहिए। उसने तय किया कि वह अपनी पत्नी का जीवन जैसे भी हो बचायेगा।यह सोच कर वह बंदर के पास गया।

बंदर मगर का रास्ता देख रहा था उसने पूछा, क्यों दोस्त आज इतनी देर कैसे हो गयी सब कुशल तो है ना। मगर ने कहा मेरा और मेरी पत्नी का झगड़ा हो गया है। वह कहती है कि मैं तुम्हारा दोस्त नहीं हूँ क्योंकि मैंने तुम्हें अपने घर नहीं बुलाया। वह तुमसे मिलना चाहती है ।

उसने कहा है कि मैं तुमको अपने साथ ले आऊँ। अगर नहीं चलोगे तो वह मुझसे फिर झगड़ा करेगी । बंदर ने हँस कर कहा, बस इतनी सी बात थी, मैं भी भाभी से मिलना चाहता था। पर मैं पानी में कैसे चलूँगा ? मैं तो डूब जाऊँगा । मगर ने कहा उसकी चिंता तुम मत करो। मैं तुमको अपनी पीठ पर बिठा कर ले जाऊँगा।

बंदर राजी हो गया वह पेड़ से उतरा और छलांग मारकर मगर की पीठ पर सवार हो गया नदी के बीच में पहुँच कर मगर आगे जाने के बजाय पानी में डूबकी लगाने को था कि बंदर डर गया और बोला क्या कर रहे हो भाई। Cartoon Videos For Kids

cartoon videos for kids

डुबकी लगाई तो मैं डूब जाऊँगा। मगर ने कहा मैं तो डुबकी लगाऊंगा। मैं तुमको मारने ही तो लाया हूँ। यह सुनकर बंदर संकट में पड़ गया उसने कहा क्यों भाई ? मुझे क्यों मारना चाहते हो ? मैंने तुम्हारा क्या बिगाड़ा है ?

मगर ने कहा मेरी पत्नी बीमार है । वैध ने उसका एक ही इलाज बताया है, यदि उस्को बंदर का कलेजा मिल जाये तो वह बच जायेगी। यहां और कोई बंदर नहीं है मैं तुम्हारा कलेजा ही अपनी पत्नी को खिलाऊंगा। पहले तो बंदर बहुत चक्का रह गया फिर उसने सोचा केवल चालाकी से अपनी जान बचाई जा सकती है।

उसने कहा मेरे दोस्त यह बात तुमने पहले क्यों नहीं बताई। मैं तो भाभी के लिए अपनी कलेजा खुशी खुशी दे देता, लेकिन वह तो नदी किनारे पेड़ पर टंगा है मैं उसे हिफाजत के लिए वही रखता हूँ । तुमने पहले ही बता दिया होता तो मैं उसे साथ ले आता। यह बात है, मगर बोला।

हाँ जल्दी वापस चलो कहीं तुम्हारी पत्नी की बीमारी बढ़ न जाये मगर वापस पेड़ की ओर तैरने लगा। और बड़ी तेजी से वहां पहुँच गया किनारे पहुँचते ही बंदर छलांग मारकर पेड़ पर चढ़ गया।

उसने हँस कर मगर से कहा, जाओ मूर्ख राज अपने घर लौट जाओ। अपनी दुष्ट पत्नी से कहना कि, तुम दुनिया के, सबसे बड़े मूर्ख हो। भला कोई अपना कलेजा निकाल कर अलग रख सकता है क्या? Cartoon Videos For Kids

Moral:- मुसीबत के वक्त हमें दिमाग से काम लेना चाहिए जैसे के इस कहानी में अगर बंदर दिमाग से काम नहीं लेता तो वे मारा जाता और उसने अपनी बुद्धिमानी से अपनी जान बचा ली | Cartoon Videos For Kids

4 COMMENTS

  1. This design is spectacular! You most certainly know how to keep a reader entertained. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Fantastic job. I really loved what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!|

  2. I just want to tell you that I’m all new to blogging and site-building and truly savored this blog site. Likely I’m going to bookmark your site . You really have good well written articles. Many thanks for revealing your blog.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here