Rendering meaning in 3D Software

0
73
Rendering meaning in 3d Software

हम बात करेंगे Rendering Meaning in 3D Software की

Rendering meaning in 3D Software में 3D Computer Graphics एक Science है l यह हम कह सकते हैं l यह एक Study है l method है l जिससे हम 3D Representation को हम 2D इमेज में Represent कर सके l इसके लिए हमें कुछ Visual का यूज़ करना पड़ता है l

जैसे – Perspective View का होता है l जिसमें हम 2D इमेज को 3D में Represent करते हैं l जिसमें हमारी Perspective And Shading Trick का Use होता है l जिसेसे कि हमारी आंखों को लगे कि हम भी 3D देख रहे हैं l क्योंकि सीन तो हमारा 2D ही है l

Rendering meaning in 3D Software

पर हमें अपने Graphics को 2D से 3D में देखने के लिए Rendering meaning in 3D Software का Use करते हैं l 3D Graphics में हमारे Seen में Weather में Interpolation होती है l जिसमें हमारी physics होती है l जैसे Light -Ray-Shading -Illumination आदि होते हैं l 3D Graphics के दो Goal होते हैं l 1- Practical Goal 2- ideal Goal

1- Practical Goal -हम यह देखते हैं l की हमारा सीन रियलिस्टिक दिखता है l दिखना चाहिए और 3D में भी दिखना चाहिएl
2- Ideal Goal – Ideal Goal में हमें यह देखना होता है l की हमारा Graphics Different हो हमारा Graphics किसी से Match तो नहीं हो रहा है l यह कह सकते हैं l कि हमारा Graphic Photo तो हो पर वह Photo की तरह नहीं दिखना चाहिए l वह अलग दिखना चाहिए कह सकते हैं l जैसे की एलियंस 3D

3D Graphics Component क्या होते हैं

1-3D Modeling – 3D Graphics में हम Modeling का Use करते हैं l जैसे Human Modeling Animal Modeling organic Modeling आदि होती है l जो Mathematical एक Representation ही होती है l हम कह सकते हैं l कि हम 3D Models को Word में दिखा रहे हैं l जो हमारी Mathematical Representation होती है
2 – Rending हमारे पास जो Models होते हैं l

जो Mathematical Representation होती है उसे हम 2D में दिखाने के लिए Rendering meaning in 3D Software  का Use करते हैं l जो हमारे 3D Object होते हैं l हम उनको 2D में दिखाते हैं l यह उनका उसका Mechanism होता है l जैसे कि हमने कोई अपना एक Seen बनाया l और उसके लिए हमें Render करना है l तो हमें अपने Seen में Lighting करनी पड़ेगी l

1-Ray Tracer Lighting -Ray Tracer Lighting में Diffuse Light And Reflection आदि होते हैं l जो कि हमारे Seen को Rial Seen से थोड़ा Change And Rial में दिखाते हैं l यह थोड़ा चेंज भी हो इसी से Seen में भी Quality में भी कुछ फर्क आ सकता है l क्योंकि इसमें Hard Shadow generate होती है l इसीलिए हमारे Render में (Time) समय ज्यादा लग सकता है l

Rending के लिए Radiosity का Use कर सकते हैं l इसमें हमें Light- Sun Environment आदि की Light अच्छे से दिखती है l 2- Scan – Line Rendering – Scan – Line Rendering हमें सभी object दिखाता है l वह चाहे Rectangle हो या Tangle हो l यह Rendering meaning in 3D Software में 3d Graphics को Tessellated करके Pixlet में Convert कर देता है l इसीलिए हम इसे Scan – line Rendering कहते हैं l

Scan – line Rendering का illuminate कैसे होगा l Scan – line Rendering की illuminate Lighting जो होती है l उसके लिए हम Color करेंगे l जो बीच में Mix हो जाए l जिसे हम Interpolation कहते हैं lRendering meaning in 3D Software में इसके लिए Scan – line Rendering एक Pixel Base Lighting होती है l जिसमें हमें Normal Shading दिखती है l

1- Flat Shading – Flat Shading उसे कहते हैं l जो Single Color होता है l Vector Normal होता है l Rendering meaning in 3D Software में UV Sphere पर दिखता है l
2- Gouraud Shading- Gouraud Shading में हम Vector को अलग-अलग कलर करेंगे l And फिर सारे कलर को Polygonal में फैलादेगे हैं l हमरे object पर Shading Shading दिखती है l जिसे हम Gouraud Shading  कहते हैं l

Rendering meaning in 3D Software

3 Phong Shading -Phong Shading इसमें हम पहले Normal Vector को निकलते हैं l And उसके बाद हम Normal Vector के हिसाब से कलर करते हैं l कलर निकालेंगे हर एक Normal Vector के लिए l

View Frustum – हमारे पास जो कैमरा होता है l

उसमें दो Option होते हैं l In And Far इन दोनों के बीच में जो Object आएगा l वह Render होगा l जो बाहर होगा वह Render नहीं होगा l इससे हम View Frustum कहते हैं l Hidden Surface Detection -Hidden Surface Detection में जो Object हमारे आगे (सामने) होंगे l

वह Rendering में Render हो जाएंगे l और जो पीछे होंगे वह Render नहीं होंगे l
तो उसके लिए हमारे पास 2 Option होते हैं l 1 Painters Algorithm 2 – Z – Buffering
1 Painter Algorithm में हम अपने object को Seen के हिसाब से Sorted कर लेते हैं l जो Depth हमारे Object में Show हो l

Rendering meaning in 3D Software

2 – Z – Buffering Z – Buffering में हमें अपने सारे Object Overlap मिलते हैं l जिसको हम Other Software में ले जाकर Overlapping कर सकते हैं l

Perspective Projection – Perspective Projection में हमें जो Object दूर होते हैं l वह छोटे दिखते हैं l And जो Object पास होते हैं l

Rendering meaning in 3D Software

वह हमें बड़े दिखते हैं l इन सब Part को मिलाकर हम 3D Rendering करते हैं l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here